राजनांदगांव पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्रेसवार्ता करती उप पुलिस अधीक्षक नेहा वर्मा।
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार

राजनांदगांव जिले के गैंदाटोला थाना क्षेत्र अंतर्गत 13 जनवरी को हुई युवती की हत्या का राज खुल गया है। प्रेमी ने ही अपने दोस्त की सहायता से युवती की हत्या की थी। पूछताछ में आरोपी ने कबूला है कि उसने पहले प्रेमिका के साथ संबंध बनाए उसके बाद गला दबा और उसके बाद सिर पर लकड़ी के ठूंठ से प्रहार हत्या कर दी थी। पुलिस ने मामले में आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

शादी का भेद खुलने के डर की हत्या

राजनांदगांव पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्रेसवार्ता कर उप पुलिस अधीक्षक नेहा वर्मा ने बताया कि आरोपी की दूसरी जगह शादी लगने वाली थी। जिसका भेद खुलने के डर से पूरी घटनाक्रम को आरोपी ने अपने दोस्त के साथ मिलकर अंजाम दिया। गैंदाटोला थाना पुलिस को ने मामले का खुलासा करने में सफलता मिली है।मृतिका के प्रेमी और उसके साथी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

13 जनवरी को आरोपी द्वारा मृतिका के साथ शारीरिक संबंध बनाकर गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने बताया कि गैंदाटोला थाना क्षेत्र अंतर्गत आरोपी अशोक फूलकुंवर उम्र 25 साल और उसके सहयोगी योगराज वीके उम्र 23 साल ग्राम चांदीटोला देवरी महाराष्ट्र के आरोपियों द्वारा पूरे घटनाक्रम को अंजाम दिया गया। मृतिका 13 जनवरी की रात खाना खाकर गांव में हो रहे कार्यक्रम देखने जाने की बात कह कर घर से गई थी। रात भर घर नहीं आने के बाद परिजनों ने आसपास पता किया जहां मृतिका कोठार की झोपड़ी में पड़ी हुई मिली जहां लहूलुहान हालत में शव पड़ा हुआ था। परिजनों द्वारा पूरे मामले की सूचना पुलिस को दी गई पुलिस द्वारा मौके पर पहुंचकर शव बरामद कर पोस्टमार्टम करा पूरे मामले की जांच की जा रही थी। इसी दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि आरोपी अशोक फुलकुंवर का मृतिका के साथ प्रेम संबंध था।

आरोपी और उसके दोस्त को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया गया आरोपियों ने बताया कि 13 जनवरी को मोटरसाइकिल से मडई घूमने आए हुए थे। इस दौरान प्रेमी अशोक ने मृतिका से मोबाइल पर बात कर मिलने बुलाया। आरोपी द्वारा पहले मृतिका के साथ शारीरिक संबंध बनाया फिर उसकी गला दबाकर और लकड़ी के ठूंठ को सिर पर पटककर हत्या कर वहां से फरार हो गए। आरोपी की दूसरी जगह शादी लगने वाली थी शादी का भेद ना खुले इसको लेकर आरोपी द्वारा पूरे घटनाक्रम को अंजाम दिया गया। पुलिस द्वारा पूरे मामले में 302, 376 सहित अन्य धाराओं के तहत अपराध पंजीबद्ध कर पूरे मामले की जांच की जा रही है। आरोपी के साथ उसके मित्र को भी सहयोग करने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *